दोपहर के खाने मे ये चीजे बिलकुल भी ना लें

दोपहर के खाने यानी की lunch के समय हमे सबसे ज्यादा भूख लगती है। और इस भूख के चलते जो भी हमारे हांथ लगता है हम वो सब खाना शुरू कर देते है बिना ये जाने की ये हमारे लिए सेहतमंद है की नही। खाना खाने के नियम होते है जिन्हे अगर आप follow करेंगे तो आपका शरीर सेहतमंद बना रहेगा। इसलिए दोपहर का भोजन योजना आपको पहले ही तैयार करना होगा। आज हम आपको यहा कुछ चीजे बताने वाले है जिन्हे दोपहर के खाने मे शामिल नही करना चाहिए कौन सी है ये चीजे जानते है

दोपहर के खाने मे इन 6 चीजों को शामिल ना करें

दोपहर के खाने मे शामिल ना करे ये चीजे

ब्रेड या सैंडविच

दोपहर के खाने मे हमे ऐसी चीजे शामिल करनी करनी चाहिए जो लंबे समय तक हमारे शरीर को ऊर्जा दे सके। ब्रेड व सैंडविच मे इतनी ताकत नही होती की शरीर को ज्यादा ऊर्जा से सके इसलिए lunch मे इनका सेवन बिलकुल भी नही करना चाहिए।

ब्रेड हमारे शरीर के खून मे बड़ी तेजी से शुगर की मात्रा बढ़ाता है। इसके अलावा यह जितनी तेजी से हमे ऊर्जा देता है वह ऊर्जा उतनी तेजी से ख़त्म भी हो जाती है

पास्ता

दोपहर मे पास्ता भी खाने से बचना चाहिए भले ही यह आपके पेट को भर दे और आपकी भूख ख़त्म हो जाए। लेकिन इसमे वो सारी चीजे मौजूद नही होती जिनकी जरूरत दोपहर के समय शरीर को होती है।

पास्ता मैदा से बनाया जाता है इसमे किसी भी तरह का प्रोटीन नही होता। अक्सर दोपहर मे पास्ता खाने के बाद सुस्ती आती है और ज्यादातर लोग ऑफिस मे पास्ता लेना पसंद करते है। सोचिए की ऑफिस मे आप पास्ता खाने के बाद काम कर पायेंगे।

मेयोनीज़

मेयोनीज अंडे, सिरके व तेल से बनाया जाता है इसमे केवल वसा और हानिकारक तत्वो के कुछ नही होता। इसमे कैलोरी की मात्रा बहोत ज्यादा होती है इसीलिए इसका सेवन ना ही किया जाए तो ठीक है।

100 ग्राम मेयोनीज मे 700 कैलोरी होती है इसलिए मेयोनीज खाने से आपके शरीर मे कैलोरी की मात्रा जल्दी बढ़ेगी और भूख भी प्रभावित होती है। अगर आप ब्रेड सैंडविच मे एक चम्मच मेयोनीज लगाते है तो इसमे ही लगभग 100 कैलोरी हो जाते है।

श्रीखंड

दोपहर के खाने मे श्रीखंड का उपयोग बिलकुल भी नही करना चाहिए इसे आप खाने के कुछ घंटो के बाद ही खाए तो ठीक रहेगा। श्रीखंड को मुख्यरूप मे दही और शक्कर से बनाया जाता है।

हालाकी श्रीखंड फायदेमंद होता है लेकिन खाने के साथ ठीक नही, क्योकी इसमे फाइबर की मात्रा बहोत कम होती है और यह प्रोटीन हो पचने नही देता। इसमे कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है।

चिप्स

आजकल जरा भी भूख लगती है तो हमारा ध्यान चिप्स की तरफ जाता है यह सिर्फ थोड़ी देर तक के लिए ही हमारी भूख शांत कर सकता है। इसे खाने से पेट भी फूलता है।

चिप्स मे ना तो किसी तरह का प्रोटीन होता है और ना ही किसी तरह का फाइबर। इसे खाने से एसिडिटी जैसी समस्याए भी उतप्न्न होती है।

सोडा या शुगर ड्रिंक

खासकर गरमियो के दिनो मे हम इन पेय पदार्थों को दोपहर के खाने मे शामिल करते है। लेकिन ये शरीर को किसी भी प्रकार का लाभ नही पाहुचाती।

इन शीतल पेय पदार्थों मे शुगर की मात्रा बहोत ही ज्यादा होती है इसलिए अगर आप इन्हे लेते है तो आपके ब्लड मे शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। साथ ही शरीर की ऊर्जा कम हो जाती है। अगर आपको डायबटीज़ की समस्या है तो यह आपके लिए ठीक नही।

तो क्या खाए हम दोपहर के भोजन मे

  • चावल
  • दाल
  • रोटी
  • हरी-सब्जी
  • दही-छाछ

ये सब सामान्य चीजे है जो शरीर के ठीक रहते है व किसी भी प्रकार की हानी नही पाहुचाते।

The source of this article is Dainik bhaskar

You may also like...