क्या आप जानते है मिर्च की उतपत्ती कहा हुई और ये भारत कहाँ से आई

भारतीय लोगो को मिर्च का तीखा खाना बहोत पसंद होता है। बिना तीखे व्यंजन के खाने का सही स्वाद मुह तक नही आता । देश मे लोगो का मिर्ची के प्रती प्यार इस बात से लगाया जा सकता है की इस पर कई गाने लिखे जा चुके है। पर क्या आप जानते है भारतीयों के भोजन पर चार चाँद लगाने वाली ये मिर्ची भारतीय नही है।

मिर्च का इतिहास

मिर्च का इतिहास

मिर्च की उत्पत्ती कहाँ हुई

कई जानकारो के अनुसार मिर्च का उपयोग लगभग 7 हजार ईसा पूर्व मैक्सिको मे किया जाता था। या ये कहा जा सकता की मिर्ची की उत्पत्ती मैक्सिको से हुई थी। मैक्सिको मे रहने वाले लोग उस समय मिर्च का उपयोग खाने मे किया करते थे। इसके बाद इटैलिक नाविक क्रिस्टोफर कोलंबस जो की भारत आना चाहते थे अपने लंबे समुद्री सफर के कारण रास्ता भटक गए व अमेरिका पहुच गए। कोलंबस ने यूरोपीय धरती पर कदम रखा और इस तरह मिर्ची कोलंबस के साथ यूरोप पहुची।

क्योकी मिर्ची का स्वाद तीखा होता है इसलिए लोगो ने इसका नाम काली मिर्च के आधार पर पैपर रख दिया। यूरोपीय भोजन मे भी मिर्च ने धीरे-धीरे अपना छाप छोड़ना शुरू कर दिया और आगे चलकर इसने पूरे यूरोपीय भोजन को अपने मे समा लिया। 

भारत मे मिर्च का आगमन

भारत मे मिर्च को पुर्तगाली अपने साथ लेकर आए थे, दूसरे देशो की तरह यहा भी इसे अपने अनोखे स्वाद के कारण बहोत पसंद किया गया व आज इसके बिना स्वादिस्ट भोजन बनाना मजेदार नही लगता। भारत मे मिर्ची प्रेम इस कदर छाया की इसकी कई नई किस्मे यहाँ उगानी शुरू हो चुकी है। कहा जाता है की इस विदेशी मिर्च का देशी रूप भूत झोलकिया दूनिया की सबसे तीखी मिर्ची है। उत्तर भारत के असम मे उगने वाली इस मिर्ची को कई अनेक नाम जैसे – नागा झोलकिया, नागा मोरिच और ghost chili से जाना जाता है।

इन्हे भी पढ़े

अगर आप ITS NEW THINK के लिए कोई सुझाव देना चाहते है या गलतियो को बताना चाहते है तो बेझिझक कहे। हम अपनी गलतियो को सुधार कर इसे आपके लिए और भी बेहतर बानाएंगे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *