खजुराहो मंदिर के बारे मे रोचक तथ्य interesting facts about khajuraho temple

interesting photos

image source – third party credit

खजुराहो (khajuraho) को मध्यकालीन प्राचीन मंदिरो के कारण दुनियाभर मे जाना जाता है। यह भारत का दिल कहे जाने वाले प्रांत मध्य प्रदेश मे स्थित है व अपनी कला से दुनियाभर के लोगो को अपनी ओर खीचता है। पूरी दुनिया मे खजुराहो को मुख्यरूप से इसके कामसूत्र के कलात्मक कलाकृति और कामोत्तेजक मूर्तियो के कलाओ के कारण जाना  है। इन मंदिरो की अदभुत कलाओ को देखकर पूरी दुनिया मे इसकी चर्चा होती है हालाकी कुछ धार्मिक पृवृती के लोग इसका विरोध भी करते है। आज हम खजुराहो (khajuraho) से जुड़े रोचक तथ्यो के बारे मे जानने वाले है। (interesting facts about khajuraho temple)

1- खजुराहो मे हिंदु व जैन मंदिरो का समावेश देखने को मिलता है, यहां दोनों धर्मो के कई मंदिर आपको देखने को मिलेंगे जो प्राचीन हस्तशिल्प कला व पुरानी संस्कृती को प्रदर्शित करती है।

2- छतरपुर जिले के इस खजुराहो मंदिर मे संभोग, प्रेम या कामसूत्र के विभिन्न कलाओ को मूर्तियों के जरिये बहुत ही सुंदरता से दिखाया गया है।

3- खजुराहो मंदिर मे मध्यकालीन महिलाओ के पारंपरिक जीवनशैली को दर्शाया गया है।

4- कहा जाता है की शुरुआत मे खजुराहो के अंदर 85 अलग-अलग मंदिर देखने को मिलते थे। जो प्राकृतिक आपदाओ व समय की आड़ मे धीरे-धीरे नष्ट हो गए। वर्तमान की बात करें तो यहां सिर्फ 22 मंदिरे ही शेष बचे हुए है।

5- प्राचीन काल मे ये मंदिर 20 किलोमीटर के दायरे मे बने हुए थे, जो की सिमट कर 6 किलोमीटर के दायरे मे आ गए है।

6- खजुराहो के मंदिर को तीन समूहो मे बांटा गया है जिसमे है पश्चमी समूह, पूर्वी समूह व दक्षिणी समूह।

Interesting facts of sex that will surprise you

7- खजुराहो को प्राचीनकाल के समय मे खजूरपुरा या खजूर वाहिका के नाम से जाना जाता था।

8- खजूर के पेड़ नाम पर ही इसका नाम खजुराहो (khajuraho) रखा गया था।

9- खजुराहो का इतिहास लगभग एक हजार साल पुराना है। उस समय यहां चंदेलों को राज्य हुआ करता था।

10- चंदेल वंस और खजुराहो को बनाने वाले राजा चंद्रवर्मन थे व खुद को चंद्रवंशीय राजा मानते थे।

11- चंदेल वंश के राजाओ ने ही खजूराहो के मंदिरो का निर्माण कराया था। यह निर्माण 950 ईसवी से लेकर 1050 ईसवी के बीच हुआ है।

12- खजुराहो के मदिर मे कई हिंदु देवी-देवताओ को अंकित किआ गया है। इसके आलावा मुख्य रूप से ब्रम्हा; विष्णु और महेश (शिव) को दिखाया गया है।

13- खजुराहो का सबसे प्रशिद्ध मंदिर महादेव का है, जिसे कंदरिया महादेव मंदिर कहते है। यह मंदिर 107 फुट ऊँचा बनाया गया है।

14- कंदरिया मंदिर के बाहर 646 व मंदिर के अंदर 246 मूर्तिया अंकित की गई है। इन मूर्तियों मे बहोत सी मूर्तिया संभोग के अलग-अलग आसनो को प्रदर्शित करती है।

15- खजुराहो की प्राचीन कला देखते हुए UNESCO ने 1986 मे इसे विश्व धरोहर घोषित कर दिया था जिसका मतलब है की पूरी दुनिया इसकी देखरेख करेगी।

16-  ये मंदिर 13 से 18वी शताब्दी के बीच मुशलिम शासको के नियंत्रण मे थी। जिसके कारण बहोत से मंदिरो को खंडित कर दिया गया।

17- कुछ समय के लिए यह मंदिर उजाड़ हो गया था जहाँ सिर्फ साधुओ का ही बसेरा रहता था, जिसे 20वी शदी दुबारा खोजा गया।

18- जेम्स मैककोन्नाचि जो की एक  journalist, travel writer, और broadcaster है उन्होंने कामसूत्र पर किताब लिखी है जिसमे उन्होने खजुराहो को बताया है।

19- काम वासना को कई लोग धार्मिक जगहो पर सही नही मानते इसे धर्म विरूद्धी कहा जाता है लेकिन खजुराहो मे दैवीय प्रतीमाओ की साथ इसे प्रदर्शित किया गया है। क्योकी यह कोई रहस्य नही है ना ही कोई दोष।

khajuraho का कई सालो तक रखरखाव ना होना एक तरह से सभी धर्मो का इसके प्रती तिरस्कार का भाव लाता है। भले ही यह हमारे संस्कृती का हिस्सा रहा है पर लोग इसे घृणा की भाव से देखते थे या अभी भी कुछ लोग देखते है। हम आज भी बड़े बुजुर्गों के सामने इसका वर्णन नही कर सकते। खजुराहो मे दिखाई गई कलाए हमारे ऐसे पहलू को उजागर करता है जो हमारे जीवन का अभिन्न अंग है फिर भी हम इससे बचते है।

khajuraho mandir ki photo, khajuraho paryatan

You may also like...