Top 10 Interesting Fact about independence day of India

Top 10 Interesting Fact about independence day of India

15 अगस्त यानी की स्वातंत्रता दिवस (Independence Day) इस दिन हमारे देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। और इस आजादी दिलाने के लिए कई क्रांतीकारियों ने अपने खून से इतिहास को लिख दिया था। लेकिन अगर आज की बात करे तो हम उन क्रांतीकारियों के बलिदान को भूलते जा रहे है। चलिए आप ही बाताइए की कितना जानते है 15 अगस्त के बारे मे। यहाँ पर 15 अगस्त से जुड़े 10 तथ्यो की बारे मे बताया गया है। तो चलिए जानते है उनके बारे मे

Top 10 Interesting Fact about Independence Day 

1. हर साल 15 अगस्त को भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले मे भारतीय राष्ट्रध्वज को फहराते है जिसे देखने के लिए लाखो की संख्या मे लोग उपस्थित रहते है। पर क्या आप जानते है पहली बार भारत का तिरंगा दिल्ली के लाल किले मे 16 अगस्त 1947 को  फहराया गया था यानी की भारत को आजादी मिलने के एक दिन बाद।

2. स्वतंत्रता दिवस सिर्फ भारतीयों के लिए ही खास नही है इसके आलावा अन्य पाँच देश भी 15 अगस्त को Independence Day के रूप मे मनाते है। इन देशो मे उत्तर कोरिया, दक्षिण कोरिया, बरहीन, कांगो व लिकटेस्टीन शामिल है।

3. जिस साल भारत को आजादी मिली उस समय भारतीय रुपया 1$ व सोना 88.62 रुपये प्रती 10 ग्राम था। अगर आज की बात करें तो 67 रुपए का एक डॉलर होता है व 10 ग्राम सोने की कीमत लगभग 26000 रुपए हो चूकी है। ये बदलाव सिर्फ 72 सालो का है।

4. 15 अगस्त को 1947 को महात्मा गांधी आजादी के जश्न मे शामिल नही हो सके क्योकी उस समय वे बंगाल के नोवाखली मे हिंदूव मुसलमानों के विवाद को सुलझाने मे लगे हुए थे। सरदार बल्लभ भाई पटेल ने उन्हे खत भी भेजा की वे राष्ट्रपिता होने के नाते इस जश्न मे शामिल हो पर गांधी ने कहा की जब यहाँ हमारे हिन्दू-मुसलमान भाई एक दूसरे की जान लेने पर उतारू है तो मै जश्न क्यो मनाऊ। इस दंगे को रोकने के लिए मै अपनी जान तक दे दूंगा।

5. लार्ड माउंटबेटन ने भारत की आजादी के लिए 15 अगस्त 1947 का दिन तय किया था। क्योकी माउंटबेटन के लिए यह एक शुभ दिन था।

Independence Day- आखिर क्यो भगत सिह ने खुद को कहा था नास्तिक 

6. भारत व पाकिस्तान को आजादी देने के लिए 15 अगस्त का दिन ही तय किया गया था पर माउंटबेटन चाहते थे की जब ब्रिटिश सत्ता दोनों देशो को सौपी जाए तो वे वहाँ उपस्थित रहें जो की एक ही दिन मे मुश्किल था इसलिए उन्होने पाकिस्तान को 14 अगस्त करांची मे व भारत को 15 अगस्त दिल्ली मे सत्ता सौपी।  यही कारण है की पाकिस्तान मे 14 अगस्त व भारत मे 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।

7. कहने के लिए 15 अगस्त के दिन पूरे देश को आजादी मिल गई थी पर गोवा अभी भी पुर्तगालिओ के कब्जे मे था। भारत के बार-बार कहने पर भी वो अड़े रहे आखिकार भारत को सैन्य बल का प्रयोग करना पड़ा व पुर्तगाल से सारे व्यापारिक समबंध तोड़ने पड़े और 1961 मे गोवा पुर्तगालिओ से आजाद हो गया।

8. क्या आप जानते है किसी भी तिरंगे को आम कपड़े से नही बानाया जा सकता इसे सिर्फ खादी से ही तैयार किया जा सकता है। इसके आलावा पूरे देश मे तिरंगा बनाने का अधिकार केवल Khadi Development and Village Industries Commission के पास ही है।

9. भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप मे हम जवाहर लाल नेहरू को जानते है। लेकिन लोग नेहरू से ज्यादा वल्लभ भाई पटेल को प्रधानमंत्री पद के लिए बेहतर मानते थे इसके लिए ज्यादातर बोट बल्लभ भाई पटेल को ही मिले थे पर गांधी जी के कहने के कारण पटेल पीछे हट गए। और नेहरू प्रधानमंत्री बना दिए गए।

10. पहली बार तिरंगा कोलकाता मे 7 अगस्त 1906 को फहराया गया था बंगाल विभाजन के विरोध मे। यह भारतीय झंडा वर्तमान के तिरंगे से बहोत अलग था। जिसमे कई बदलावो के बाद आज का वर्तमान स्वरूप मिला।

Independence Day – शोभनाथ शर्मा को मिला था पहला परमवीर चक्र 

veerendra

I am a Blogger and entertaining content writer on its new think site. we share amazing content regularly on this platform. if you like the article share it on social media with your friends and family.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *