भारतीय passport के रंग अलग-अलग क्यो होते है क्या है इनका महत्व

 

types of passport in india

किसी भी व्यक्ती के लिए passport एक पूरा आइडेंटिटी प्रूफ होता है, यह सिर्फ एक ट्रैवल डाक्यूमेंट नही है, ये विदेशो मे आपको आपकी अपनी पहचान देता है। लेकिन क्या आप जानते है भारत मे कितने रंगो के passport बनाए जाते है और पासपोर्ट के इन अलग-अलग रंगो का मतलब क्या होता है। 

अगर आप विदेश जाकर घूमना चाहते है तो पासपोर्ट आपके लिए बहोत ही जरूरी होता है। इसमे व्यक्ती की nationality, जन्म और पता जैसी जांकारिया लिखी होती है। दुनिया का कोई भी देश हो अपने नागरिकों को दूसरी देशो मे भेजने के लिए पासपोर्ट की सुविधा उपलब्ध कराता है। लगभग हर देशो मे अलग-अलग कामो के लिए अलग-अलग पासपोर्ट जारी किए जाते है। आप किसी भी व्यक्ती के पासपोर्ट के रंग को देखकर उसके बारे मे थोड़ी जानकारी हासिल कर सकते है।

भारत मे 3 रंगो के पासपोर्ट जारी किए जाते है

भारत मे तीन रंगो के पासपोर्ट का इस्तेमाल किया जाता है। इन passport का रंग होता है नीला, सफ़ेद और महरूम जो इनके फीचर्स के बारे मे दर्शाता है। चलिए जानते है इनके रंगो का मतलब

रेगुलर पासपोर्ट

regular passport in india

रेगुलर पासपोर्ट का रंग नीला होता है और इसका नीला रंग हमारे भारतीयता को दर्शाता है। यह पासपोर्ट भारत के आम लोगो के लिए जारी किया जाता है। अगर आपके पास नीला पासपोर्ट है तो विदेशो के कस्टम ऑफिसर को इसकी जाँच करने मे किसी भी प्रकार के दिक्कत का सामना नही करना पड़ता। आपकी जाँच बड़े आराम से हो जाती है।

ओफिशियल पासपोर्ट

official passport in india

ऑफिसियल पासपोर्ट का रंग सफ़ेद होता है और इसके नाम से ही पता चल जाता है की यह ओफिशियल लोगो के लिए बनाई जाती है, जो किसी सरकारी काम की वजह से दूसरे देश जा रहे है। पासपोर्ट का सफ़ेद होना यह बता देता है की ये सरकारी कर्मचारी अधिकारी है।

डिप्लोमैटिक पासपोर्ट

diplomatic indian passport

डिप्लोमैटिक पासपोर्ट महरूम रंग मे जाती किए जाते है, ये पासपोर्ट बहोत ही खास किस्म के होते है। डिप्लोमैटिक पासपोर्ट भारत के बड़े व सीनियर ऑफिसर व भारतीय राजनीतिज्ञों द्वारा इस्तेमाल किए जाते है। बड़े अधिकारियों मे जैसे सुप्रीमकोर्ट के जज, IPS और IAAS अधिकारी वर्ग और डिप्लोमैट्स यानी राष्ट्रपती, प्रधानमंत्री आदी।

कई अन्य देशो मे अलग-अलग रंगो के passport 

लाल– लाल रंग का पासपोर्ट अधिकतर देखने को मिलता है,सामान्यता यूरोपीय देख इसका इस्तमाल बहुतायत रूप से करते है। फ्रांस, पोलैंड, जर्मनी और नीदरलैंड इस रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल करते है। इसके अलावा  सोल्वेनिया, चीन, रूस, सर्बिया, लात्विया, जॉर्जिया, रोमानिया समेत लगभग 68 देशो के लोग इस लाल रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल करते है।

हरा– हरे रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल ज्यादातर इस्लाम बाहुल्य देश करते है इन देशो मे पाकिस्तान, मोरक्को, इंडोनेशिया व साउदी अरेबिया के देश शामिल है। पश्चिमी अफ्रीकी देशों मे बुर्किना नाइजीरिया, आइवर कोस्ट, नाइजर, फासो जैसे देशो मे हरे पासपोर्ट का इस्तेमाल होता है। हरे रंग के passport लगभग 48 देशो के लोग करते है।

काला– काले रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल कुछ अफ्रीकी देश करते है जिसमे जांबिया, गैबन,, बुरूंडी अंगोला, कॉन्गो, बोत्सवाना, मालवी जैसे देश है। काले रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल सबसे कम होता है काहा जाता है की एक समय ब्रिटिस पासपोर्ट भी काला था लेकिन बाद मे इसे बदल दिया गया।

नीला– बहोत से देश नीले रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल करते है। हालाकी इस नीले रंग मे भी थोड़ा अन्तर है जैसे की भारत और अमेरिका जैसे देश मे नेवी ब्लू पासपोर्ट इस्तेमाल होता है और अफ्गानिसतान मे  हल्के नीले रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल किया जाता है। कहा जाता है की कई बार विदेशो मे भारतीय पासपोर्ट को काला पासपोर्ट समझ लिया जाता है क्योकी ये गहरे नीले होते है।

आपको passport से जुड़ी ये जानकारिया कैसी लगी और कौन सी जांकारिया आप हमारे द्वारा जानना चाहते है ये हमे comment के जरिया जरूर बताए। इसके अलावा हमारे द्वारा दी गई जानकारियों मे आपको कुछ कामिया या गलतिया देखाई देती है तो हमसे बेझिझक कहे। 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *